‘World Sparrows Day’ एक बार फिर मेरे आँगन में आ रे प्यारी गौरैया

जीवन शैली दुनिया देश नजरिया

BY DISHA PANDEY– हमारी रोज़ सुबह की नई शुरुआत को खुशनुमा बनाने में प्रकृति का बेहद ख़ास हाथ होता है उसी प्रकृति का एक बेहद ख़ास हिस्सा होती है हमारे आँगन में रोज़ सुबह चहचहाने वली गौरैया। तो आज हम बात करने वाले है गौरैया की, आज 20 मार्च यानी कि गोरैया दिवस है। आज के दिन पूरी दुनिया में विश्व गौरैया दिवस मनाया जा रहा है। यह दिन पूरे विश्व में गौरैया पक्षी के संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता है। घरों को अपनी चीं-चीं से चहकाने वाली गौरैया अब दिखाई नहीं देती है। बता दे ‘विश्व गौरैया दिवस’ पहली बार वर्ष 2010 में मनाया गया था। प्यारी गौरैया का कभी इंसान के घरो में बसेरा हुआ करता था और बच्चो से भी इन पक्षियों की खूब बातें होती थी। या यूं कहे तो गोरैया का इंसानों के घरों से गहरा नाता होता था। इनकी चीं-चीं से पूरा घर चहकता रहता था। मगर अब गोरैया सिर्फ यादों में ही रह गई हैं, ये सभी बीते वक़्त की बातें बन चुकी है गौरैया के अस्तित्व पर छाए संकट के बादलों ने इनकी संख्या काफ़ी कम कर दी है और कहीं-कहीं तो अब यह बिल्कुल विलुप्त हो चुकी हैं.

ALSO READ- महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले की केमिकल फैक्ट्री में लगी आग

कविता- मेरे आँगन की सोन चिरैया… ओ री गौरैया… प्यारी गौरैया
तू रोज सुबह… दाना चुगने मेरे आँगन में आए…
अपनी मीठी चेहचहाहट से मेरे सोये भाग जगाए…
ओ री गौरैया… प्यारी गौरैया जीती रहे… तू उड़ती रहे…

गौरैया के अस्तित्व पर संकट पड़ने का कारण बढ़ती जनसँख्या है, पेड़ो का कटना है, घरों से आँगन का गायब हो जाना है,और पेड़ों की जगह केबल के तारों का बिछ जाना है, जिनमें शीतलता की बजाये बहता है तेज करंट और साथ ही सबसे बड़ी वजह मोबाइल से होने वाले रेडिएशन है।
तो आइये हम सभी मिलकर संकल्प लेते हैं की हम इन नन्ही सी जान का ख्याल रखते हुए इनके लिए एक सेफ वातावरण बनाएँगे, हम सबको कुछ कदम एक जागरूक नागरिक होने के कारण उठाना ज़रूरी है, जैसे आप अपने हिस्से की सहयोगिता कटोरी में दाना और पानी रख के, अपने घरो में पेड़ लगाके, अपने आँगन में एक बर्ड हाउस टांग कर और ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाकर कर सकते हैं।

ALSO READ- IND VS ENG टी20 – आज खेला जायेगा करो या मारो का मुकाबला, 2-2 से सीरीज में है बराबरी

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *