यूपी: पत्नी का कत्ल कर बेड में बंद किया शव, बदबू आने पर खंगाला कमरा तो सामने आई सच्चाई

अपराध उत्तर प्रदेश मुख्य समाचार लाइव खबरें

 लखनऊ ! रहीमनगर इलाके में अंजू देवी (34) की गला घोंटकर हत्या के बाद शव कमरे में बेड बॉक्स में बंद कर दिया गया। शुक्रवार दोपहर करीब एक बजे बदबू आने पर परिजनों ने कमरा खंगाला तो महिला का शव देखकर पुलिस को सूचना दी।

शव फूल जाने से बेड बॉक्स में फंस गया था। पुलिस ने आरी की मदद से बेड बॉक्स के सपोर्टर काट कर शव बाहर निकाला। इस बीच मायकेवालों के आरोप पर पुलिस ने एक घंटे के भीतर आरोपी पति मोनू राजपूत को हिरासत में ले लिया। कड़ाई से पूछताछ में आरोपी ने कुबूला कि बुधवार सुबह हुए झगड़े के बाद पत्नी की हत्या की थी। फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।
प्रभारी निरीक्षक महानगर प्रदीप कुमार सिंह के मुताबिक, रहीमनगर निवासी मोनू राजपूत ने दो साल पहले सोनभद्र के शक्तिनगर निवासी अंजू से लव मैरिज की थी। मोनू पापड़ का कारोबार करता था। परिवार में बूढ़ी मां, विधवा भाभी और एक भतीजा है। अंजू आरोपी मोनू से तीन साल बड़ी थी। शादी के एक साल बाद दोनों को एक बेटा हुआ। अंजू बच्चा नहीं चाहती थी। इसे लेकर दंपती में काफी विवाद भी हुआ था। मोनू के परिजनों के मुताबिक, आए दिन दोनों में झगड़ा होता था। इसके चलते कोई बीच-बचाव करने नहीं जाता था।

 

Read more: अमित शाह: गृहमंत्री का गुजरात का तीन दिवसीय दौरा आज से, कई योजनाओं का करेंगे उद्घाटन

 

अयोध्या जाने की बात कहकर निकला था आरोपी पति 
एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक, पूछताछ में सामने आया कि मोनू और अंजू के बीच मंगलवार रात में ही विवाद हुआ। देर रात तक मारपीट भी हुई। बुधवार सुबह करीब सात बजे अंजू नाश्ता बना रही थी। इस दौरान फिर विवाद हो गया। कुछ देर बाद मोनू घर के बाहर बैठी बूढ़ी मां और भाभी से बोला कि हम लोग अयोध्या जा रहे है। मां व भाभी को लगा कि अंजू भी जा रही है। आगे निकल गई होगी। मोनू का बेटा अपनी दादी के पास ही रहता था। शुक्रवार सुबह जब कमरे से बदबू आई तो अंजू की मौत की जानकारी हुई।
दीवार से टकराकर गिरी फिर दबा दिया गला
पूछताछ में मोनू ने कुबूला कि बुधवार सुबह नाश्ता बनाते वक्त अंजू से विवाद हुआ। इसके बाद उसने एक थप्पड़ उसकी कनपटी पर मारा। इससे वह लड़खड़ाकर दीवार से टकराई और गिरकर बेहोश हो गई। उसे कई बार हिलाया तो कुछ नहीं बोली। गुस्से में उसका गला दबा दिया। उसे मरा समझकर बेड बॉक्स में रखी रजाई को बाहर निकाला। इसके बाद अंजू का शव बेड बॉक्स में डालकर बाहर निकल गया। प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक, अंजू के मायकेवालों को सूचना दे दी गई है।

मिस्ड कॉल से हुए प्रेम में मिली बेवफाई
मोनू की मां ने पुलिस को बताया कि करीब तीन साल पहले अंजू की एक मिस्ड कॉल आई थी। इसके बाद ही मोनू की अंजू से दोस्ती हुई थी। प्यार बढ़ा तो परिजनों की मर्जी को दरकिनार कर दोनों ने शादी कर ली। इसके बाद मोनू की अंजू से मोबाइल पर दोस्तों से बात करने को लेकर अक्सर विवाद होने लगा था।

 

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *