मानसून सत्र: 18 जुलाई को होगी सर्वदलीय बैठक, पीएम भी होंगे शामिल

नेशनल राजनीति

बैठक में सत्ता पक्ष, विपक्ष से मानसून सत्र को सुचारू रुप से चलाने के लिए सहयोग मांगेगा। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी की ओर से सभी दलों को इस बैठक के लिए आमंत्रित किया गया है.  संसद सत्र से पहले सर्वदलीय बैठक बुलाने की परंपरा है।

Read more..यूपी: सपा के कई नेताओं पर कार्रवाई की तलवार, सभी जिलों की रिपोर्ट का हो रहा मूल्यांकन

सरकार को घरेने की तैयारी में विपक्ष
इस बार मानसून सत्र के ज़्यादा हंगामेदार होने की संभावना है। कोरोना, टीकाकरण, महंगाई और राफेल जैसे तमाम मुद्दों को लेकर विपक्ष सरकार को पूरी तरह घेरने की तैयारी कर रहा है। बताया जा रहा है कि संसद के मानसून सत्र में सरकार 30 बिलों को लेकर आएगी। वहीं भाजपा सांसद जनसंख्या नियंत्रण और समान आचार संहिता पर भी प्राइवेट मेंबर बिल पेश करने वाले हैं।

Read more..दिल्ली : चार साल का बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित, खांसी जुकाम के साथ पेट में भरा पानी

संसद में कोरोना प्रोटोकॉल का होगा पालन
भारतीय जनता पार्टी ने अपने तमाम सांसदों को सदन में मौजूद रहने को कहा है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने संसद की तैयारियो का जायजा लेकर यह सुनिश्चित किया है कि संसद सत्र के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन हो। संसद सत्र में शामिल होने के लिए सांसदों को पहले ही टीके के दोनों डोज लेने को कहा गया था।
मिली जानकारी के मुताबिक राज्यसभा के 231 सांसदों में से अब  तक 200 से ज्यादा सांसदों ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले ली है। जबकि 16 ने कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ले ली है. वहीं लोकसभा में 540 में से 470 सांसदों ने कम से कम टीके की एक डोज ले ली है।  वहीं जिन सांसदों ने कोरोना का टीका अब तक नहीं लगवाया है या उन्हें टीका लगवाने तक सदन में शामिल होने के लिए हर दो हफ्तों में आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना होगा।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *