काबुल: आतंकवादी कर सकते हैं काबुल हवाई अड्डे पर बड़ा हमला,पश्चिमी देशों ने नागरिकों को चेताया

#Afghanistan अपराध अमेरिका नेशनल

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के हवाईअड्डे पर देश छोड़कर भागने वालों की भारी भीड़ जमा है। इसका फायदा उठाकर आतंकी किसी भी वक्त बड़ा हमला करने की पूरी फिराक में है। खतरे को भांपते हुए ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने अपने नागरिकों को काबुल हवाईअड्डे पर न जाने की सलाह दी है। इसके बाद अब अमेरिका ने भी अपने नागरिकों से सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने सुरक्षा खतरों के मद्देनजर अपने नागरिकों से कहा है, ‘जो ऐबे गेट, ईस्ट गेट या नॉर्थ गेट पर मौजूद हैं वे तुरंत वहां से हट जाएं।’ इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने भी अफगानिस्तान में भी अपने नागरिकों को काबुल हवाईअड्डे न जाने की सलाह दी। ऑस्ट्रेलिया ने हवाईअड्डा परिसर में मौजूद अपने नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर जाने और अगले आदेश का इंतजार करने की सलाह दी है। ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मारिसे पायने ने कहा कि यह ट्रैवल एडवाइजरी ब्रिटेन और न्यूजीलैंड की संशोधित यात्रा सलाह के समान है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने सुरक्षा खतरों के मद्देनजर अपने नागरिकों से कहा है, ‘जो ऐबे गेट, ईस्ट गेट या नॉर्थ गेट पर मौजूद हैं वे तुरंत ही वहां से हट जाएं।’ इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने भी अफगानिस्तान में अपने नागरिकों को काबुल हवाईअड्डे न जाने की सलाह दी। ऑस्ट्रेलिया ने हवाईअड्डा परिसर में मौजूद अपने नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर जाने और अगले आदेश का इंतजार करने की सलाह दी है। ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मारिसे पायने ने कहा कि यह ट्रैवल एडवाइजरी ब्रिटेन और न्यूजीलैंड की संशोधित यात्रा सलाह के समान है।

Read more..कोरोना:कोरोना संक्रमण के मामले में लगातार दूसरे दिन भारी इजाफा,बीते 24 घंटे में 607 लोगों की हुईमौत

ब्रिटेन ने भी खुफिया तंत्र से मिली जानकारी का हवाला देते हुए यह दावा किया है आतंकवादी काबुल हवाईअड्डे पर बड़ा हमला करने की योजना बना रहे हैं। ब्रिटिश आर्म्ड फोर्सेज मिनिस्टर जेम्स हेपी ने कहा, ‘हमें आतंकी हमले की बहुत ज्यादा पुख्ता जानकारी मिली है और इसलिए विदेश मंत्रालय ने देर रात अपने नागरिकों से काबुल एयरपोर्ट पर इकट्ठा न होने की अपील की है। उन्हें सुरक्षित स्थानों पर जाना चाहिए और अगले आदेश का इंतजार करना चाहिए।’ उन्होंने यह भी कहा कि खतरा बहुत बड़ा है और ब्रिटेन वहां मौजूद लोगों को सुरक्षित रखने के लिए हर संभव कोशिश करेगा।

बता दें कि अफगानिस्तान में 15 अगस्त को तालिबान के कब्जे के बाद से घटनाक्रम तेजी से बदला है और हर देश पिछले कुछ दिनों से अपने राजनयिकों सहित वहां फंसे नागरिकों को निकालने में जुटे हुए हैं। तालिबानी शासन से डरे अफगानी भी देश छोड़ने की होड़ में हैं।

Read more..यूपी: नाइट कर्फ्यू पर यूपी में सीएम योगी सख्त, अधिकारियों को दिया क्या नया आदेश

बेल्जियम ने बुधवार को कहा कि वह अब अफगानिस्तान से लोगों को लाने के लिए विमान नहीं भेजेगा। बेल्जियम अब तक 1100 से ज्यादा लोगों को काबुल से ले गया है जिनमें यूरोपिय और अफगानी नागरिक शामिल हैं। वहीं, फ्रांस भी गुरुवार को अपनी फ्लाइट्स बंद करने का ऐलान कर चुका है।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *