उत्तराखंड: भाजपा के सांसद धर्मेंद्र कश्यप समेत तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज, जागेश्वर धाम में अभद्रता का मामला

उत्तराखंड नेशनल राजनीति

भगवान भोले के धाम जागेश्वर में शनिवार को मंदिर समिति के प्रबंधक भगवान भट्ट और पुजारियों से गालीगलौज और अभद्रता आंवला (बरेली) के भाजपा सांसद धर्मेंद्र कश्यप को बहुत ज्यादा भारी पड़ गई। भगवान भट्ट की तहरीर पर राजस्व पुलिस ने धर्मेंद्र कश्यप, उनके साथी मोहन राजपूत और सुशील अग्रवाल के खिलाफ मजिस्ट्रेट के आदेश का उल्लंघन करने पर धारा 188 और गालीगलौज, अभद्रता करने पर धारा 504 के तहत प्राथमिक दर्ज कर ली है। अल्मोड़ा एसडीएम ने इसकी पुष्टि भी की है। सांसद के इस अमर्यादित आचरण के विरोध में रविवार को कुमाऊं में कई जगहों पर लोगों ने इसके लिए प्रदर्शन भी किया।

Read more..EV: HPCL के पेट्रोल पंपों में लगेंगे ईवी फास्ट चार्जर, इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों की टेंशन होगी दूर

प्रबंधक भगवान भट्ट ने राजस्व उप निरीक्षक कोटुली के यहां दी हुई तहरीर में लिखा है कि शनिवार 31 जुलाई को शाम 3:30 बजे सांसद धर्मेंद्र कश्यप अपने दो साथियों मोहन राजपूत, सुशील अग्रवाल और यूपी पुलिस के चार सुरक्षा कर्मियों के साथ मंदिर में पूजन के लिए आए। पूजा की व्यवस्था पं. गिरीश भट्ट ने करवाई। मंदिर प्रबंध समिति की एसओपी के अनुसार मंदिर में सुबह 6:30 बजे से शाम छह बजे तक दर्शन और सुबह सात से शाम साढ़े चार बजे तक पूजा के लिए समय निश्चित है। इसके नियमानुसार शाम छह बजे मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार श्रद्धालुओं के लिए भी बंद कर दिया जाता है।

Read more..कोरोना:कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है इसी महीने बोले एक्सपर्ट्स और भी ज्यादा होंगे हालात खराब

इसकी जानकारी बार-बार देने के बाद भी 6:30 बजे तक सांसद कश्यप और उनके साथी मंदिर परिसर में ही जमे रहे। जब सांसद और उनके साथ आए मोहन राजपूत से मंदिर परिसर से बाहर जाने का अनुरोध किया तो मोहन ने बहस शुरू कर दी और साथ खड़े सांसद कश्यप गाली गलौच लगे। सांसद ने पुजारियों और स्थानीय जनता के लिए भी बुरे अपशब्दों का प्रयोग किया। सांसद और उनके साथियों के अभद्र व्यवहार से हर श्रद्धालु आहत है। कोटुली के राजस्व उप निरीक्षक गोपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि जांच कर तीनों आरोपियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *