Himachal Landslide: हरिद्वार जा रही बस गिरी पहाड़ी से आयी चट्टानों की चपेट में, 50-60 लोग इसमें फंसे

hadsa उत्तराखंड सेहत

हिमाचल प्रदेश के रिकांगपिओ से उत्तराखंड के हरिद्वार जा रही एचआरटीसी की बस चट्टानों में गिरने के कारण हादसे का शिकार हो गई है। बताया जा रहा है कि यह हादसा हिमाचल के किन्नौर जिले के पास निगुलसेरी में पहाड़ से मलबा गिरने के कारण हुआ है। मुख्यमंत्री ने बताया कि 50-60 लोग अभी भी मलबे में फंसे हो सकते हैं। एनडीआरएफ, सेना, पुलिस और स्थानीय लोग घायलों को अस्पताल पहुंचाने में जुटे हुए हैं।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि अभी तक 4 लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल ले जाया गया है। मौके पर एनडीआरएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, पुलिस की टीम मौजूद है । बचाव अभियान के प्रयास लगातार जारी हैं लेकिन मलबा अभी भी ऊंचाई से गिर रहा है। 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बताया कि अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक 50-60 लोग फंसे हो सकते हैं।गृह मंत्री अमित शाह ने फोन पर कहा कि राज्य उन्हें तुरंत किसी भी मदद की जरूरत बता सकता है। सेना ने हमें हर संभव मदद की पेशकश की है, वे ऑपरेशन में शामिल होना चाहते हैं।

Read more..असम में संदिग्ध मानव बलि में पांच साल की बच्ची की मौत, तांत्रिक गिरफ्तार

एनडीआरएफ, सेना, पुलिस और स्थानीय लोग घायलों को अस्पताल पहुंचाने में जुटे हुए हैं। बताया जा रहा है कि किन्नौर जिले मे मूरंग हरिद्वार रूट की यह बस है। डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि पहाड़ी से लगातार चट्टानें गिर रही हैं। इस वजह से रेस्क्यू में भी बहुत ज्यादा दिक्कत आ रही है। 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि निगुलसेरी, किन्नौर में भूस्खलन होने से मलबे में वाहनों के दबने का समाचार सुनकर बहुत दुखी हूं। हमने किन्नौर प्रशासन को राहत-बचाव कार्य के निर्देश दे दिए हैं। मलबे में दबे लोगों को सुरक्षित निकालने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। प्रभावितों को हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी।

Read more..वाराणसी:प्रशासन से फोन पर ली पीएम मोदी ने बाढ़ के हालात,दिलाया हर संभव का भरोसा की जानकारी,

इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने जयराम ठाकुर से फोन पर बात की और वर्तमान स्थिति के बारे में पूरी जानकारी ली। गृह मंत्री ने फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए और स्थिति का जायजा लेने के लिए आईटीबीपी के महानिदेशक से भी बात की।

गौरतलब है कि 25 जुलाई 2021 को किन्नौर जिले के बटसेरी में सांगला-छितकुल मार्ग पर पहाड़ी से दरकी चट्टानों की चपेट में एक पर्यटक वाहन आ गया था। हादसे में टेंपो ट्रैवलर में सवार नौ पर्यटकों की मौत हो गई थी। हादसा इतना भयानक था कि वाहन को चट्टानों ने हवा में ही उड़ा दिया था और 600 मीटर नीचे बास्पा नदी के किनारे दूसरी सड़क पर जा गिरा था।

मृतकों में मां और पुत्र-पुत्री समेत 4 राजस्थान के, छत्तीसगढ़ के दो, महाराष्ट्र और दिल्ली का एक-एक पर्यटक था। सभी पर्यटक दिल्ली से ट्रैवल एजेंसी के वाहन में किन्नौर घूमने आए थे। पहाड़ी से गिरे बड़े पत्थर से बटसेरी स्थित बास्पा नदी पर बना 120 मीटर लंबा लोहे का पुल भी पलक झपकते ही धराशायी हो गया था।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *