डॉ. राम मनोहर लोहिया संस्थान में आज लगेगा रक्तदान शिविर, आइए मिलकर बनें महादानी

Covid Help उत्तर प्रदेश दुनिया देश मुख्य समाचार लखनऊ लाइव खबरें सेहत स्वास्थ्य

by Shazia

लखनऊ। 14 जून को ‘विश्व रक्तदान दिवस’ के अवसर पर डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान परिसर में स्थित पुराने लोहिया अस्पताल के ब्लड बैंक में ‘स्वैच्छिक रक्तदान शिविर’ का आयोजन कर रहा है। इसका उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान की निदेशक डॉ. सोनिया नित्यानंद करेंगी। रक्तदान कर महादानी बनने के लिए लोगों ने बड़ी संख्या में पंजीकरण कराया है।… तो आप भी आइए और रक्तदान कर लोगों की जिंदगी बचाइए।

कोरोना संकट के दौर में ब्लड डोनेशन न होने से सरकारी ब्लड बैंकों में खून का पर्याप्त स्टॉक नहीं बचा है। कई सरकारी ब्लड बैंकाें में तो कई ग्रुप का ब्लड नहीं है।

वैक्सीन लगने के 14 दिन बाद कर सकते हैं रक्तदान

लोहिया अस्पताल के ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. वीके शर्मा ने बताया कि 18 से 60 साल तक का स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है। सबसे बड़ी बात है कि रक्तदान करने से किसी भी तरह की कोई कमजोरी नहीं आती है। उन्होंने अधिक से अधिक लोगों से रक्तदान करने और रक्तदान करने आने वालों से मास्क अवश्य लगाकर आने की अपील की है। उन्होंनेे बताया कि वैक्सीन लगवाने के 14 दिन बाद रक्तदान किया जा सकता है। चाहे आपने पहली डोज लगवाई हो या दोनों। 14 दिन बाद रक्तदान करने में कोई दिक्कत नहीं है। डॉ. शर्मा ने बताया कि अगर कोई पॉजिटिव हुआ था तो वो भी आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट आने के 14 दिन बाद रक्तदान कर सकता है।

डॉ. विक्रम सिंह, एमएस, लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान- कई बार ऐसा मरीज आ जाता है जिसके पास रक्तदाता नहीं होता है और उसकी हालत भी गंभीर होती है। ऐसी स्थिति में मैं अब तक करीब 15 बार रक्तदान कर मरीजों की जान बचा चुका हूं। यह बहुत नेक काम है। इससे बड़ा कोई दान नहीं है। इसलिए हर स्वस्थ व्यक्ति को तीन माह के अंतराल पर नियमित रक्तदान करना चाहिए।

 

अन्य खबरें:-

जानकीपुरम पुलिस ने 3 शातिर चोरों को किया गिरफ्तार

यूपी: पंचायत उपचुनाव के लिए सुबह से मतदान जारी, वोटिंग बूथ के बाहर लगी लंबी लाइनें

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *