लखनऊ:नाबालिग लड़कियों की तस्करी करने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश

अपराध उत्तर प्रदेश देश मुख्य समाचार

Published by: Shazia

लखनऊ गोमतीनगर पुलिस ने पूर्वोत्तर राज्यों से नाबालिग लड़कियों की तस्करी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। बृहस्पतिवार देर रात को विशेष अभियान के तहत पांच मानव तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गये आरोपियों के चंगुल से दो नाबालिग लड़कियों को मुक्त कराया गया। आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

एडीसीपी पूर्वी एसएम कासिम आब्दी के मुताबिक बृहस्पतिवार रात को सूचना मिली कि गोमतीनगर के विपुल खंड इलाके में पूर्वोत्तर राज्यों की कुछ किशोरियों की तस्करी करने वाले गिरोह सक्रिय है। यह गिरोह किशोरियों से वेश्यावृत्ति कराता है। जानकारी होने के बाद प्रभारी निरीक्षक केशव कुमार तिवारी के नेतृत्व में टीम तैयार की गई। पुलिस टीम ने घेराबंदी कर विपुलखंड के ओवर ब्रिज के नीचे रेलवे लाइन केपास से पांच लोगों को गिरफ्तार किया। इसमें दो महिलाएं और तीन पुरूष शामिल है। पकड़े गये आरोपियों के पास से पुलिस ने दो किशोरियों को मुक्त कराया है। एडीसीपी के मुताबिक पकड़े गये आरोपियों में गाजीपुर थानाक्षेत्र के मुरारीनगर निवासी सनी गुप्ता, वहीं 30 साल की महिला, असम के नगांव के मुराजर बाजार निवासी फैजुद्दीन, उसकी पत्नी ओर इंदिरानगर में किराए पर रहने वाला राहुल गौतम शामिल है। राहुल बरेली का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उनसे पूछताछ कर रही है।

50हजार से एक लाख में बेची जाती है किशोरियां

एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव के मुताबिक यह गिरोह किशोरियों को लखनऊ लाने केबाद उनका सौदा करता है। सौदा करने के लिए कोई दाम तय नहीं होता है। पूछताछ में सामने आया कि किशोरियों को 50 हजार रुपये से एक लाख रुपये में बेचते हैं। इस गिरोह के पास से बरामद दो किशोरियों को भी बेचने की तैयारी थी। पुलिस केमुताबिक गिरोह के सदस्य सिर्फ लखनऊ में ही नहीं है। वह जहां सौदा तय हो जाता है । वहीं किशोरियों को लेकर चले जाते हैं।गिरोह के सभी सदस्यों का हिस्सा भी उनकी भूमिका पर तय रहती है। इसमें किसी भी तरह सौदेबाजी नहीं होती है। पुलिस पकड़े गये आरोपियों से पूछताछ कर रही है। ताकि राजधानी सहित आसपास केजिलों में फैले नेटवर्क को तोड़ा जा सके। पुलिस बरामद किशोरियों के परिवारीजनों से संपर्क कर रही है।

असम की किशोरियां मुक्त कराई गई

प्रभारी निरीक्षक गोमतीनगर केशव कुमार तिवारी के मुताबिक यह गिरोह पूर्वोत्तर राज्यों से किशोरियों को बहलाफुसलाकर लाते हैं। इसके बाद उनसे वेश्यावृत्ति कराते है। पुलिस ने विशेष अभियान के तहत इन आरोपियों के पास से दो किशोरियों को मुक्त कराया। पूछताछ में सामने आया कि मुक्त कराई गई किशोरियां मूलरूप से असम की रहने वाली है। उनको लखनऊ में कुछ दिन पहले लाया गया था।

अन्य खबरें:-BJP को कांग्रेस से पांच गुना ज्यादा चंदा मिला

कोविड वैक्सीनेशन को लेकर शंका निराधार,लगवाएं वैक्सीन – मुन्ना चौहान

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *