इन आदतों से रहें दुर

इन आदतों से रहें दुर

मुख्य समाचार विचार विमर्श शेयर बाजार संपादकीय साहित्य संस्कृति

आचार्य चाणक्य ने चाणक्य नीति में व्यक्ति की कुछ ऐसी आदतें बताई है, जो उसे गरीब बनाने के लिए जिम्मेदार है। इन आदतों की वजह से व्यक्ति का जीवन संतुलित नहीं रह पाता जिससे देवी लक्ष्मी उससे दूर भागने लगती है। आइए, जानते हैं कि कौन-सी हैं वे आदतें-

गंदे कपड़े पहनने वाला व्यक्ति 
गंदे कपड़े पहनने वाले शख्स के पास कभी लक्ष्मी नहीं आती है। चाणक्य कहते हैं कि जो लोग हमेशा गंदगी में रहते हैं। अपने आसपास सफाई नहीं करते उन पर लक्ष्मी की कृपा नहीं होती। ऐसे लोग हर तरफ से निरादर का सामना करते हैं।

दांतों की सफाई न करने वाला व्यक्ति 
इंसान दांतों की सफाई नहीं रखता उसे गरीबी का सामना करना पड़ता है। ऐसे लोगों को लक्ष्मी त्याग देती हैं, जबकि हर दिन दांतों की सफाई करने वाले शख्स पर लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

भूख से ज्यादा खाने वाला मनुष्य 
भूख से ज्यादा खाने वाला शख्स कभी धनवान नहीं हो सकता है, क्योंकि दरिद्रता इंसान को गरीबी में धकेल देती है।वहीं, जरूरत से ज्यादा खाने वाला व्यक्ति कभी भी स्वस्थ नहीं रहता है।

कड़वे वचन बोलने वाला व्यक्ति

कड़वे वचन बोलने वाले लोग भी अमीर नहीं हो सकते हैं। चाणक्य कहते हैं कि वाणी से दूसरों के मन को आहत करने वालों पर लक्ष्मी की कृपा नहीं होती है और ना ही उनका मित्र बन पाता है। चाणक्य कहते हैं कि ऐसे व्यक्ति दुश्मनों से घिरे होते हैं।

बेईमान व्यक्ति हो जाता है गरीब 
अन्याय, धूर्तता अथवा बेईमानी से पैसा कमाने वाले लोग ज्यादा दिन तक अमीर नहीं रहते, वे जल्द ही अपना पैसा गंवा बैठते हैं।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *