April 7, 2020

आज के समय में लगभग सभी स्मार्टफोन 4G आते है। लेकिन 4G तकनीक दो तरीके से काम करता है। लेकिन बहुत से यह नहीं जानते है। पहला है LTE और दूसरा VOLTE पर। लेकिन हम आपको बताते है की यह दोनों क्या फर्क है।

LTE

LTE को 4G का दूसरा नाम माना जाता है। लेकिन असल में ये 4G का एक प्रकार है जिसका मतलब है बेहतर स्पीड वाला वायरलेस ब्रॉडबैंड कनेक्शन। ITU-R ने 4G का जो पैमाना तय किया है, उसे पूरा कर पाना टेलीकॉम कंपनियों के लिए मुश्किल है। ऐसे में LTE एक तरह से वो रास्ता है जिसके जरिए 4G स्पीड प्राप्त की जा सकती है और ये 3G स्पीड से एक कदम आगे है। उसी तरह से LTE- एडवांस्ड, LTE से एक कदम ऊपर है, जो आपको बेहतर स्पीड के साथ निर्धारित 4G स्पीड के बेहद करीब ले जाता है और बेहतर नेटवर्क स्टेबिलिटी भी देता है।

VOLTE

LTE से न सिर्फ बढ़िया डाटा स्पीड मिलती है बल्कि LTE नेटवर्क पर कॉल भी की जा सकती है। इसे VoLTE (Voice over LTE) भी कहा जाता है। LTE, पुराने 3G नेटवर्क के मुकाबले कहीं ज्यादा डाटा कैरी करने में सक्षम है, इसीलिए आपको बेहतरीन कॉल क्वालिटी और घर या ऑफिस के भीतर पहले से कहीं बेहतर नेटवर्क कवरेज मिलती है।

LTE और VOLTE की शुरुवात
LET की शुरुवात सबसे पहले एयरटेल ने 2012 में की थी और VOLTE की शुरुवात जिओ ने की। इसके बाद सभी कंपनिया इसका प्रयोग करने लगी।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *