April 7, 2020

रियलमी ने वीवो समेत अन्य कंपनियों का बढ़ाया सिरदर्द, भारत में जबरजस्त हुआ ग्रोथ

नई दिल्ली। चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी रियलमी ने भारतीय बाजार में शाओमी समेत अन्य ब्रांड को जबरदस्त चुनौती पेश की है। पिछले साल मई में भारतीय स्मार्टफोन बाजार में कदम रखने वाली कंपनी ने महज 1.5 साल के अंदर ही शाओमी के यूजरबेस में सेंध लगा दी है। मार्केट रिसर्ट एजेंसी IDC के हाल ही में जारी हुई रिपोर्ट के मुताबिक,रियलमी ने भारतीय बाजार में पिछली तिमाही (Q3, 2019) 401.3 फीसद की ईयरली ग्रोथ दर्ज की है। रियलमी के अलावा इसकी पैरेंट कंपनी ओप्पो ने भी भारतीय बाजार में 92.3 फीसद की ग्रोथ दर्ज की है। हालांकि, स्मार्टफोन शिपमेंट के मामले में शाओमी अभी भी मार्केट लीडर बना हुआ है।शाओमी ने Q3, 2019 में 8.5 फीसद की ग्रोथ दर्ज की है। शाओमी ने पिछली तिमाही में 12.6 मिलियन स्मार्टफोन्स शिप किए हैं, वहीं, रियलमी ने 6.7 मिलियन स्मार्टफोन्स शिप किए हैं, जो कि शाओमी, सैमसंग, वीवो के शिपमेंट से कम है।

रियलमी ने पिछले साल मई में स्मार्टफोन बाजार में दस्तक दी थी। इसके बाद कंपनी ने बजट और मिड रेंज सेग्मेंट में पिछले 1.5 साल के अंदर 15 से ज्यादा स्मार्टफोन्स लॉन्च किए हैं। कंपनी इस महीने 20 नवंबर को भारत मे दो और स्मार्टफोन्स रियलमी X2 Pro और रियलमी 5s लॉन्च करने वाली है।रियलमी और शाओमी के अलावा सैमसंग ने 8.8 मिलियन स्मार्टफोन्स शिप किए हैं। इसके अलावा वीवो ने 7.1 मिलियन और ओप्पो ने 5.5 मिलियन स्मार्टफोन्स शिप किए हैं। ओवरऑल शिपमेंट की बात करें तो इन टॉप 5 कंपनियों ने पिछली तिमाही में लगभग 94 फीसद स्मार्टफोन्स भारतीय बाजार में शिप किए हैं।

पिछले दिनों जारी हुई रिपोर्ट के मुताबिक, वनप्लस ने सैमसंग और एप्पल को पीछे छोड़ते हुए प्रीमियम सेग्मेंट में टॉप पॉजीशन हासिल की है। वहीं, बजट रेंज में रियलमी ने शाओमी के मार्केट शेयर को सेंध लगाई है। ओप्पो और वीवो ने भी मिड रेंज सेग्मेंट में अपनी पकड़ मजबूत की है। भारतीय बाजार की बात करें तो 80 फीसद से ज्यादा स्मार्टफोन्स Rs 14,000 की प्राइस रेंज में शिप हुए हैं।

Sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *